आपका विज्ञापन यहां हो सकता है सम्‍पर्क करें

Advertisement

Advertisement
Call Me

The Union Minister for Steel, Chemicals and Fertilisers, Mr Ram Vilas Paswan, enjoys Himachali food

The Union Minister for Steel, Chemicals and Fertilisers, Mr Ram Vilas Paswan, enjoys Himachali food

Saturday, January 29, 2011

कुल्लू घाटी के लिए बहुप्रतीक्षित हैली टैक्सी सेवा का शुभारम्भ


बिजेंदर शर्मा
शिमला ---विधानसभा का बजट सत्र 28 फरवरी से 8 अप्रैल 2011 तक
मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल की अध्यक्षता में आज यहां हिमाचल प्रदेश मंत्रिमण्डल की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि राज्य विधानसभा के अध्यक्ष को यह संस्तुत किया जाए कि वे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल को यह संस्तुत करें कि राज्य विधानसभा का बजट सत्र 28 फरवरी से 8 अप्रैल, 2011 तक आयोजित किया जाए। बजट सत्र में कुल 24 बैठकें आयोजित की जाएंगी। 


बिजेंदर शर्मा
शिमला --हिमाचल प्रदेश मंत्रिमंडल ने आज यहां आयोजित बैठक में राजस्व मंत्री की अध्यक्षता में एक मंत्रिमंडलीय उप समिति गठित करने का निर्णय लिया। यह समिति संविधान (85वां संशोधन) अधिनियम, 2001 के कार्यान्वयन के संबंध में अपनी संस्तुति तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के सरकारी कर्मचारियों को आरक्षण/रोस्टर के नियम के अनुसार पदोन्नति की वरिष्ठता सौंपेगी। शिक्षा, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, उद्योग, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज तथा परिवहन मंत्री और मुख्य सचिव समिति के सदस्य होंगे और प्रधान सचिव कार्मिक समिति के सदस्य सचिव होंगे। 

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने बैठक की अध्यक्षता की। 

मंत्रिमंडल ने प्रारम्भिक शिक्षा विभाग में पुराने तथा नए भर्ती एवं पदोन्नति नियमांे के अनुसार शास्त्री के 225 पद, भाषा अध्यापक के 450 पद, कला अध्यापक के 200 पद और शारीरिक शिक्षा अध्यापक के 125 पद भरने को स्वीकृति प्रदान की। किन्तु चयनित अध्यापकों को बच्चों को निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009 के अनुसार वांछित शैक्षणिक योग्यता निर्धारित समयावधि के भीतर हासिल करनी होगी, तभी वे भविष्य के लाभ प्राप्त करने के हकदार होंगे। 

मंत्रिमंडल ने रौला (1.25 मैगावाट), फैर (1.75 मैगावाट), नालियां (0.80 मैगावाट), बौरार (0.40 मैगावाट), मलां (1.00 मैगावाट) और ऊहल-प्प् (1.00 मैगावाट) के आवंटन को रद्द करने को स्वीकृति प्रदान की।

हिमाचल प्रदेश को देश का ‘पालीथीन मुक्त’ राज्य बनाने के उद्देश्य से मंत्रिमण्डल ने प्रदेश में 15 अगस्त, 2011 से प्लास्टिक कप, प्लेट और गिलास जैसे नष्ट न होने वाले डिस्पोज़ेबल प्लास्टिक उत्पादों के भण्डारण पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। किसी संस्थान अथवा वाणिज्यिक संस्थान द्वारा नष्ट न होने वाले प्लास्टिक के कचरे को निजी अथवा वाणिज्यिक संस्थान के परिसर में फैलाने पर पांच हजार रुपये तथा वैयक्तिक रूप से नष्ट न होने वाले प्लास्टिक के कचरे को किसी निजी अथवा वाणिज्यिक संस्थान के परिसर में फैलाने पर एक हजार रुपये का जुर्माना किया जाएगा।

मंत्रिमण्डल ने रिकांगपिओ चैक का नाम स्व. श्री ठाकुर सैन नेगी की स्मृति में ‘ठाकुर सैन नेगी चैक’ करने को स्वीकृति प्रदान की।

मंत्रिमण्डल ने आबकारी एवं कराधान विभाग में संयुक्त श्रम आयुक्त का एक पद, आबकारी एवं कराधान अधिकारियों के दो पद, प्रदेश के अधीनस्थ न्यायालयों में नागरिक न्यायाधीश, जूनियर डिविज़न के 12 पद तथा हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग में लिपिक के 8 पद और आशुटंकक के दो पद भरने को स्वीकृति प्रदान की।

मंत्रिमण्डल ने सैनिक कल्याण विभाग में उप निदेशक के चार पद, कल्याण संगठक के 11 पद, लिपिक के पांच पद और आशुटंकक के दो पद भरने को मंजूरी प्रदान की। 

मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश मूल्य संवर्द्धित कर (वैट) अधिनियम, 2005 की नई अनुसूची ‘ई’ के तहत तंबाकू और तंबाकू उत्पादों पर वैट को 13.75 प्रतिशत से बढ़ाकर 16 प्रतिशत करने और बीड़ी को उन वस्तुओं के तहत लाने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की, जिनपर विशेष मूल्य के अनुसार कर लगाया जाता है।

मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड को संबद्धता के इच्छुक निजी शिक्षण संस्थानों के निरीक्षण के लिए सरकार द्वारा अधिकृत दरों पर टैक्सी किराये पर लेने को प्राधिकृत करने की मंजूरी दी।

मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश लोक निर्माण विभाग के बिलासपुर स्थित राष्ट्रीय राजमार्ग उपमण्डल को जिला सिरमौर के शिलाई में स्थानांतरित करने को स्वीकृति प्रदान की ताकि उस क्षेत्र में निर्मित किए जा रहे नए राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्य पर नजर रखी जा सके।

मंत्रिमण्डल ने तकनीकी शिक्षा विभाग में वरिष्ठ प्रवक्ता, सूचना प्रौद्योगिकी (श्रेणी-प् राजपत्रित) के पद के लिए भर्ती एवं पदोन्नति नियम बनाने तथा वरिष्ठ प्रवक्ता, व्यवहारिक विज्ञान (श्रेणी-प् राजपत्रित) के पद के लिए भर्ती एवं पदोन्नति नियमों में संशोधन को स्वीकृति प्रदान की।मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश लोकायुक्त अधिनियम, 1983 में संशोधन को स्वीकृति प्रदान की।

हिमाचल को पर्यटन में तीन और पुरस्कार
बिजेंदर शर्मा
शिमला --हिमाचल प्रदेश को पर्यटन क्षेत्र में तीन और राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किए गए हैं। आउटलुक पत्रिका ने नीलसन द्वारा किए गए देश के सभी पर्यटक गंतव्यों के लिए किए गए स्वतंत्र सर्वेक्षण के आधार पर प्रदेश को यह पुरस्कार प्रदान किए हैं। 

हिमाचल प्रदेश को ‘फेवरेट हिल डेस्टिनेशन-मनाली’, ‘आउटलुक टैªवलर्स अवार्ड-2010’ तथा ‘फैवरेट एड्वेंचर डेस्टिनेशन’ पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। ये पुरस्कार आज नई दिल्ली में प्रदान किए गए। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने आज अनाडेल हैलीपैड से हैली-टैक्सी सेवा का शुभारम्भ करने के उपरांत पत्रकारों को यह जानकारी दी। 

मुख्यमंत्री ने पर्यटन प्रोत्साहन क्षेत्र में तीव्र विकास और राज्य के लिए कई राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार जीतने पर पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हिमाचल पर्यटन विश्व भर के सैलानियों को श्रेष्ठ पर्यटक सेवाएं उपलब्ध करवाने वाले राज्य के रूप में उपभ रहा है। इस तरह के पुरस्कार इस क्षेत्र में कार्य कर रही श्रम शक्ति का मनोबल बढ़ाते हैं और उन्हें अपना कार्य अधिक निष्ठा एवं लगन से करने के लिए प्रेरित करते हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि होटल व्यवसायी एवं ट्रैवल एजेंट प्रदेश की समृद्ध परम्पराएं कायम रखेंगे तथा पर्यटकों को श्रेष्ठ सेवाएं उपलब्ध करवाएंगे, ताकि वे यहां से सुखद अनुभूतियां के साथ वापस जाएं।

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. राजीव बिन्दल, राज्य सभा सांसद श्रीमती बिमला कश्यप, हिमुडा के उपाध्यक्ष श्री गणेश दत्त, प्रधान सचिव पर्यटन श्रीमती मनीषा नंदा और प्रदेश सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर भी उपस्थित थे। 

..0..
हिमाचल प्रदेश में हैली टैक्सी सेवा आरम्भ
बिजेंदर शर्मा
शिमला --प्रदेश के पर्यटन विकास में आज उस समय एक और अध्याय जुड़ गया जब मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने शिमला स्थित अनाडेल हैलीपैड से विश्व प्रसिद्ध कुल्लू घाटी के लिए बहुप्रतीक्षित हैली टैक्सी सेवा का शुभारम्भ किया। हैली टैक्सी सेवा के माध्यम से पर्यटक पहाड़ों में स्थित प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों तक आसानी से पहुंच पाएंगे। पर्यटक इस सेवा का प्रयोग कर प्रदेश के दूर-दराज के क्षेत्रों में स्थित महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों से रू-ब-रू भी हो पाएंगे। 

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि हैली टैक्सी सेवा के आरम्भ होने से प्रदेश में पर्यटन का दायरा बढ़ गया है, क्योंकि इस सेवा के माध्यम से धनाढ्य वर्ग के पर्यटक कम समय में हिमाचल को देख पाएंगे। उन्होंने कहा कि पर्यटकों को अब चण्डीगढ़ अथवा प्रदेश के किसी अन्य भाग में भी यह सुविधा प्राप्त हो सकती है। इस सेवा को आरम्भ करने से पूर्व पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा व्यापक तैयारी की गई थी। उन्होंने कहा कि आरम्भ में सिम सैम एयरवेज़ ने यह सेवा शिमला हैलीपैड से आरम्भ की है।

प्रो. धूमल ने कहा कि गत वर्ष 1.39 करोड़ पर्यटक हिमाचल प्रदेश आए, जिसमें से अधिकांश विदेशी पर्यटक थे। उन्होंने कहा कि हैली टैक्सी सेवा प्रदेश में और अधिक पर्यटकों को लाने में सफल होगी। राज्य में पैरा-ग्लाईडिंग, हैंग-ग्लाईडिंग, हैली स्कींग और अंतरराष्ट्रीय स्तर की अन्य साहसिक खेल गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं तथा हैली टैक्सी सेवा के माध्यम से इन खेलों को और अच्छी तरह से आयोजित किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के विभिन्न स्थलों तक धनाढ्य वर्ग के पर्यटकों को लाने में हैली टैक्सी सेवा विशेष रूप से सहायक सिद्ध होगी। उन्होंने प्रदेश की गुणात्मक पर्यटन अधोसंरचना में एक और महत्वपूर्ण मील का पत्थर स्थापित करने के लिए पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग को बधाई देते हुए कहा कि इससे प्रदेश में पर्यटन विकास को नए आयाम मिलेंगे। 

निदेशक पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन डाॅ. अरूण शर्मा ने इस अवसर पर प्रदेश में और अधिक संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए तथा धनाढ्य वर्ग की मांगों को पूरा करने के लिए विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। 

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. राजीव बिन्दल, राज्य सभा सांसद श्रीमती बिमला कश्यप, हिमुडा के उपाध्यक्ष श्री गणेश दत्त, प्रधान सचिव पर्यटन श्रीमती मनीषा नंदा और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
-- 

No comments:

Post a Comment

Recent Entries

Recent Comments

Photo Gallery

narrowsidebarads


SITE ENRICHED BY:adharshila