आपका विज्ञापन यहां हो सकता है सम्‍पर्क करें

Advertisement

Advertisement
Call Me

The Union Minister for Steel, Chemicals and Fertilisers, Mr Ram Vilas Paswan, enjoys Himachali food

The Union Minister for Steel, Chemicals and Fertilisers, Mr Ram Vilas Paswan, enjoys Himachali food

Wednesday, March 2, 2011

सरकार राज्य के संतुलित एवं समग्र विकास के लिए राजनीति व क्षेत्रवाद से ऊपर उठ कर अथक प्रयास कर रही


कार्यालय पर्तिनिधि /शिमला --- प्रदेश सरकार राज्य के संतुलित एवं समग्र विकास के लिए राजनीति व क्षेत्रवाद से ऊपर उठ कर अथक प्रयास कर रही है। गत तीन वर्षों की अवधि में हर क्षेत्र में राज्य ने नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं, जिससे विकसित व खुशहाल हिमाचल का निर्माण साकार हो सके।

हर क्षेत्र के विकास में शिक्षा महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती है, इसी के मद्देनजर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में बेहतर अधोसंरचना विकसित करने के साथ प्रदेश के कोने-कोने में प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान स्थापित किए जा रहे हैं। जहां पहले प्रदेश में अपने बच्चों को उच्च शिक्षा ग्रहण करवाने के लिए अभिभावकों को उन्हें अधिक खर्च वहन कर दूसरे राज्यों में भेजना पड़ता था, वहीं सरकार के अथक प्रयासों के परिणामस्वरूप विद्यार्थियों को उनके घर के समीप ही उच्च शिक्षा प्राप्त हो रही है।

शिमला जिला के प्रगतिनगर में शीघ्र ही सतलुज जल विद्युत निगम की सहायता से इंजीनियरिंग एवं टेक्नोलाॅजी संस्थान स्थापित किया जाएगा। इसी तरह नेशनल हाइड्रो पाॅवर काॅरपोरेशन (एनएचपीसी) व नेशनल थर्मल पाॅवर काॅरपोरेशन (एनटीपीसी) के संयुक्त तत्वाधान में जल्द ही बिलासपुर जिले में हाइड्रो इंजीनियरिंग काॅलेज की स्थापना की जाएगी।

प्रदेश में विद्यार्थियों को व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से कांगड़ा जिले के देहरा में केन्द्रीय विश्वविद्यालय, छेब में भारतीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान, धर्मशाला में फूड क्राफ्ट संस्थान, हमीरपुर जिले में होटल प्रबंधन संस्थान खोले गए हैं। इसी कड़ी में जिला मण्डी के कमान्द में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आई.आई.टी.) तथा नेरचैक के समीप ई.एस.आई. मेडिकल काॅलेज, हमीरपुर में तकनीकी विश्वविद्यालय, सोलन के कालू झण्डा में अटल शिक्षा कुंज व बाॅयो टेक्नोलाॅजी मैनेजमेंट साइंस विश्वविद्यालय तथा ऊना, हमीरपुर तथा सिरमौर जिलों में तीन नए मेडिकल काॅलेज खोलने प्रस्तावित हैं।

सरकारी क्षेत्र के साथ-साथ निजी क्षेत्र में भी अनेक प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान स्थापित किए जा रहे हैं। जहां सिरमौर जिले में इंटरनल विश्वविद्यालय खोला गया है, वहीं शिमला में रयात-बाहरा विश्वविद्यालय, कांगड़ा जिले में साई विश्वविद्यालय, सोलन में चितकारा इंजीनियरिंग साइंस व टेक्नोलाॅजी विश्वविद्यालय तथा ऊना में बायो-टेक्नोलाॅजी एवं मैनेजमेंट एवं साइंस विश्वविद्यालय और इंडस इंटरनेशनल विश्वविद्यालय स्थापित किए गए हैं।

राज्य में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के साथ-साथ प्रदेश के पिछड़े क्षेत्रों में भी शिक्षा की मूलभूत सुविधाएं सुदृढ़ हुई हैं। प्रदेश में पांच आदर्श विद्यालय खोले जाएंगे जिसमें से सिरमौर जिले में एक व चार चम्बा जिले में होंगे। राज्य के दूर-दराज क्षेत्रों में विद्यालय खोले जा रहे हैं। गत तीन वर्षों में प्रदेश में 43 वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, 58 उच्च विद्यालय, 62 मिडिल एवं 33 प्राथमिक विद्यालय खोले गए हैं, जो राज्य के चहुंमुखी विकास के प्रति सरकार की कटिबद्धता को दर्शाता है।

प्रदेश सरकार राज्य को शिक्षा हब बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत है।  

No comments:

Post a Comment

Recent Entries

Recent Comments

Photo Gallery

narrowsidebarads


SITE ENRICHED BY:adharshila